साउथ की नंगी

लहान मुलांच्या मराठी गोष्टी

लहान मुलांच्या मराठी गोष्टी, मगर उपर छत पर आते ही, मुझे एक बार फिर से, कीर्ति की तबीयत की फिकर ने घेर लिया . इस खुशी के माहौल मे, मुझे उसकी कमी का अहसास, कुछ ज़्यादा ही सताने लगा था. मुझे कीर्ति से बात करने की इतनी बेचैनी पहले कभी नही थी, जितनी की आज थी. मैं प्रिया और उस लड़की की सुंदरता की तुलना करने मे खोया हुआ था. तभी उस लड़की ने सेंट्रल टेबल पर पापड रख कर, ठुनक्ते हुए अजय से कहा.

छोटी माँ बोली तो क्या ये सब तुम लोगों ने पहले से ही तय करके रखा था कि, कौन, कब और किस गाने पर डॅन्स करेगा. मैने मॅनेजर को फ़ौरन मुंबई के लिए एक प्राइवेट प्लेन का इंतेजाम करने को कहा. मेरी बात सुनते ही मॅनेजर मेरे रूम से बाहर चला गया. मैं बेचेनी से उसके वापस आने का इंतजार करने लगा.

मगर तब मुझे यही लगा कि, शायद बीमारी की वजह से ऐसा हो. लेकिन जब दोपहर को उसे यहाँ लाया गया तो, उसकी जाँच करते समय मेरी नज़र एक ऐसी बात पर पड़ी कि, मुझे कुछ शक़ हुआ और उसके बाद, शाम को जब मैं उसे देखने पहुचि तो, पुनीत उसके पास था और उसका चेहरा खिला हुआ था. जिस से मेरा शक़ इस बात को लेकर पक्का हो गया. लहान मुलांच्या मराठी गोष्टी प्रिया की इस बात को सुनकर, मैं बहुत भावुक हो गया था. उसने थोड़े से ही शब्दों मे ही बहुत कुछ कह दिया था. मगर आज अपने जाने से पहले मेरे पास भी उस से कहने के लिए बहुत कुछ था. मैने उसके हाथ से अपना हाथ छुड़ाया और फिर उसका हाथ पकड़ कर सहलाते हुए कहा.

বেঙ্গলি সেক্স ভিডিও ডাউনলোড

  1. ऐसी हालत मे भी प्रिया के मूह से ये बात सुनकर, मेरी आँखों मे नमी छा गयी. मैने पलट कर प्रिया के चेहरे को देखा तो, उसकी आँखों मे आँसू झिलमिला रहे थे.
  2. डॉक्टर निशा बोली चलो तुमने इस बात को तो माना कि, तुम दोनो के बीच ऐसी कोई बात हुई है. बस तुम इस बात को मान रहे हो कि, ये बात प्रिया ने मुझसे कही है. बुला मोठा करण्यासाठी काय उपाय
  3. मैं बोला तू बिल्कुल सही बोल रही है. मैने सच मे बहुत बड़ी ग़लती कर दी. मेरी जगह यदि तू होती और आंटी ने मुझे ये सब बोला होता तो, तू बड़े प्यार से सब सुन लेती. छोटी माँ बोली बड़ा आया मेरी फिकर करने वाला, मैं कब से कॉल लगा रही हूँ और तू है कि, मेरा कॉल उठा ही नही रहा है. यदि मैने तेरा कॉल उठाने मे, इतनी देर लगाई होती तो, अभी तक तूने अपना मूह फूला लिया होता.
  4. लहान मुलांच्या मराठी गोष्टी...मेरी पॅकिंग तो पहले से ही थी. मगर मैं कुछ देर बाद कमरे से निकलना चाहता था. ताकि सबको यही लगे कि मैने अभी पॅकिंग की है. मगर मैं ये भी अच्छी तरह से जानता था की, मेरे पास ज़रूर कोई ना कोई आएगा. इसलिए मैं बॅग खोल कर अपना समान इधर उधर कर, पॅकिंग करने का नाटक करने लगा. कीर्ति की ये बात मेरे दिल पर चोट कर गयी. लेकिन मैं ये भी जानता था कि अभी वो अपने आप मे नही है. वो खुद ही नही जानती कि वो क्या क्या बोले जा रही है.अब मेरे पास कीर्ति को शांत करने का बस एक ही रास्ता था और मैने बड़े ही शांत शब्दों मे कीर्ति से कहा.
  5. मैं बोला यहाँ मेरा एक दोस्त है. वो कुछ दिन के लिए मुझे अपने साथ रुकने को बोल रहा है. क्या मैं कुछ दिन उसके साथ, उसके घर मे रुक सकता हू. लेकिन नेहा ने प्रिया की बात को अनसुना कर मेरे कपड़ो मे भी हल्दी लगाना सुरू कर दिया. जिसे देख कर प्रिया को गुस्सा आ गया और उसने उन लड़कियों से हल्दी का थाल छीन कर, पूरा थाल ही नेहा के उपर पलट दिया.

देहाती सेकस विडियो

मेरा कॉल आते देख कर, कीर्ति ने फ़ौरन मेरा कॉल काट कर, मुझे वापस कॉल लगा दिया. मैने जैसे ही कॉल उठाया, मुझे कीर्ति के गाना गाने की आवाज़ सुनाई दी.

यही वजह थी कि, अजय के अभी कोई भी बात बताने से मना कर देने के बाद भी, कीर्ति फोन पर बनी हुई थी और मेरी आवाज़ सुनकर अपने दिल की तड़प को कम कर रही थी और कीर्ति के फोन पर बने रहने से मेरे दिल को भी राहत मिल रही थी. लेकिन आज मेरी वजह से आज उनकी हर बात का समय बदल गया था. ना तो वो समय पर खाना खा पाई थी और ना ही समय पर सो पाई थी. ये ही नही सुबह भी उनके खाने के समय पर, उनसे बात करते समय मेरे साथ वो हादसा हो गया था.

लहान मुलांच्या मराठी गोष्टी,निक्की बोली आप ठीक कहते हो पुनीत सर. प्रिया को समझना चाहिए कि, किसी को सिर्फ़ प्यार करने से, वो अपना नही हो जाता. किसी पर जान देने से, वो सच मे जान नही बन जाता. ये तो किस्मत की बात होती है कि, किसको किसका प्यार नसीब होता है.

लेकिन दरवाजे की तरफ देखते ही, मेरी और मेहुल की आँखे हैरत से खुली की खुली रह गयी. वही जब रिया की नज़र दरवाजे पर पड़ी तो, उसके चेहरे पर भी वो ही भाव आ गये, जो कि राज के चेहरे पर थे.

मैं बोला सॉरी दीदी, मुझे नही पता था कि, मेरी ये बात आपको इतनी ज़्यादा बुरी लग जाएगी. यदि मुझे ऐसा ज़रा भी पता होता तो, मैं अपनी दीदी को नाराज़ करने की ग़लती कभी नही करता. प्लीज़ दीदी, अपने इस छोटे भाई को माफ़ कर दो.బెంగళూరు సెక్స్

एक तो मुझे नींद परेशान कर रही थी. ऐसे मे कीर्ति का फोन पर किसी के साथ बिज़ी रहना और मेरा कॉल ना उठाना, इस बात से मेरा मूड बहुत ज़्यादा खराब हो गया था. मुझे उस पर बहुत ज़्यादा गुस्सा आ रहा था और इसलिए अब मैने उसे कॉल ना लगाने का फ़ैसला किया. मैने दूसरे मोबाइल पर उसका कॉल दो तीन बार काटा, उसके बाद भी उसका कॉल आता रहा. वो उस समय शायद अपने रूम मे रही होगी. इसलिए उसे ये समझ मे नही आया कि, मैं छोटी माँ से बात कर रहा हू.

ये बोल कर मैं कीर्ति के कुछ बोलने का इंतजार करने लगा. मेरी इस बात का कीर्ति पर क्या असर पड़ा. ये तो वही जाने. मगर इस बात को सुनने के बाद उसने बड़े ही अनमने मन से मुझसे कहा.

ये कह कर, रिया मोहिनी आंटी और नितका को वहाँ से चलने को कहा तो, मोहिनी आंटी भी वहाँ से ऐसी भागी, जैसे की उनको मूह माँगी मुराद मिल गयी हो. उनके वहाँ से जाने के बाद, सेलू ने सीरू के कान मे कुछ बोला. जिसके बाद सीरू ने मुझसे कहा.,लहान मुलांच्या मराठी गोष्टी मैं बोला नही, अंकल सो रहे थे. लेकिन मैं नीचे आकर प्रिया को देखने चला गया था. निक्की अभी भी जाग रही थी तो, उसे सोने का बोल कर आ रहा हूँ.

News