सेक्सी पिक्चर देना सेक्सी पिक्चर

షార్ట్ వీడియోస్

షార్ట్ వీడియోస్, निशा ने लंड को हाथ भी नहीं लगाया। और सीधे पापा के टट्टो को चूम लिया। दोनों टट्टे ऊपर नीचे उछल रहे थे। आशा तुरंत अपना गांड पापा की तरफ कर दिया, और दिवार से टेककर खड़ी हो गयी। उसने अपना दोनों हाथ से शर्ट को उतना ही ऊपर किया जितना उसकी गांड दिखाई दे सके।

मम्मी ने पेटीकोट और ब्लाउस पहना हुआ था, वो शायद अपने कमरे में गयी थी और साडी उतारने के बाद दुसरे कमरे में चल रही अपनी बहन की चुदाई को कान लगा कर सुन रही थी..और उसके ख़त्म होते ही वो वापिस आ गयी. जगदीश राय निशा के लंड को पकडते ही ऑंखें खोल दी और आँख फाडे निशा को देखने लगा। निशा मुठ मारने के इरादे से , हाथ हिलाना शुरू किया। जगदीश राय पागल हो गया।

छोड़िए भी हमे. जैसे हमे कुच्छ मालूम ही नहीं. जब तक आप सच नहीं बोलेंगे, तब तक हमे आपके साथ कुच्छ नहीं करना. मम्मी बनावटी गुस्से से उनका हाथ अपने चूतरो से हटाती हुई बोली. पापा बुरी तरह वासना की आग में जल रहे थे. आज नहीं चोद सके तो 15 दिन तक ब्रह्मचारी बन के रहना पड़ेगा. షార్ట్ వీడియోస్ मेरा लंड उसकी चूत के ऊपर ठोकरे मार रहा था...और वो भी अपनी चूत ऊपर करके मेरे लंड को निगलने के लिए उत्साहित सी हो रही थी... मैंने उसकी चूत के ऊपर अपना लंड टिकाया ..वो थोड़ी देर के लिए मचलना भूल गयी...पर जैसे ही मैंने उसके अन्दर थोडा लंड का दबाव डाला..वो फिर से मचलने लगी...

देसी औरत का वीडियो

  1. वो बिलकुल मेरे आगे खड़े थे और मैंने जब ऊपर देखा तो उनके धारीदार कच्छे के अन्दर से उठता हुआ उनका काला लंड किसी लम्बे सांप जैसा दिखा, मैं उसे पूरी तरह तो नहीं देख पा रहा था, पर ये अंदाजा तो हो ही चूका था की वो मेरे और पापा से भी लम्बा है.
  2. दादाजी : अरे सोनी बेटा, तू कब तक अपने हाथों से मेरे लंड की मालिश करेगी, तू थक जायेगी...ऐसा कर मैंने तेरी चूत के अन्दर काफी तेल डाल दिया है, तू इसे मेरे लंड के चारों तरफ लपेट दे और फिर इससे मालिश कर, ठीक है न बेटा.. फ्री फायर डाउनलोड गूगल
  3. उसने एक झटके से दरवाजा खोल दिया..और सामने नंगी लेटी हुई दुलारी हमें देखते ही डर गयी .और अपने कपडे ढ़ुढते हुए जो हाथ लगा उसे अपनी छाती के ऊपर डाल कर अपना नंगापन छुपा लिया. ठीक 10 मिनट बाद आशा आ गई।डोर बंद करके अंदर आते ही आशा ने अपने सभी कपडे उतार फेंके।वो अपने पापा के सामने पूरी नंगी थी।वो भी दिन में उसका नंगा बदन चमक रहा था।उसकी गांड में फँसी पुंछ को देखकर जगदीश राय का लंड फुंफकारने लगा।
  4. షార్ట్ వీడియోస్...पर वो अल्हड सी लड़की मेरी कामुक नजरो से बेखबर, आम चूसने में लगी हुई थी, मानो ये आम चुसो प्रतियोगता जीतकर वो गोल्ड मेडल लेना चाहती हो.. और आखिर में वो जीत ही गयी.. उसी वक़्त साथ ही निशा ने अपने बाए हाथ को सहारे के लिए मोड़ दिया और सीधे उसे पापा के खड़े लंड के ऊपर रख दिया। निशा के बाँहों(एआरएम) का हिस्सा पापा के गरम कठोर लंड की गर्मी जांच रहा था।
  5. लो राजा मैं तो कुतिया बन गयी लेकिन कुतिया को तो कुत्ता ही चोद्ता है पर अभी तो इस कुतिया के ऊपर सांड चढ़ेगा और अपने घोड़े जैसे लंड से चोदेगा. पापा मम्मी के चूतरो के पीछे बैठ कर उनके फैले हुए विशाल चूतरो और उनके बीच से झाँकति हुई फूली हुई चूत को निहारने लगे. मेरी तरफ से निश्चिन्त होकर उन्होंने फिर से मम्मी के शरीर को अपनी पारखी नजरों से चोदना शुरू कर दिया, वो उन्हें ऐसे देख रहे थे मानो अपनी आँखों से उन्हें चाट रहे हो, हर एक हिस्से को बड़े गौर से देख रहे थे,

இந்தியன் காலேஜ் கேர்ள்ஸ் எக்ஸ் வீடியோ

उन्होंने मेरी तरफ देखा....और फिर बेड पर लेटे मम्मी और पापा की तरफ...और बोली....मैं जा रही हूँ....अपने बेटे का लंड लेने... और वो निकल गयी मेरे कमरे से ऋतू के कमरे की तरफ...

काला लंड : हां हां हां हां काफी दीनों बाद कोई कमसिन पर रफ लड़की मिली है वरना आजतक तो सिर्फ़ एक ही सांस में दम तोड़ी है तुम्हारी कसम मेरी जान. इतनी फूली हुई चूत को चोद कर तो मैं धन्य हो गया हूँ. और फिर इसकी मालकिन चुदवाती भी तो कितने प्यार से है

షార్ట్ వీడియోస్,मेरे लंड से पिचकारियाँ छुटने वाली थी.. मेरे साथ -२ ऋतू भी झड़ने के काफी करीब थी..सबसे पहले मेरे लंड ने पिचकारियाँ मारनी शुरू की..मेरा एक हाथ ऋतू के चुचे पर था और दूसरा सुरभि के., उत्तेजना के मारे मैंने उन दोनों को काफी तेजी से दबा डाला..

मैंने चोंककर उसे देखा और अपने दोनों पैर उठा दिए और वो मेरे सामने झुक कर सोफे के नीचे तक झाड़ू घुमाती हुई सफाई करने लगी, मेरा मन कर रहा था की अभी अपना लंड बाहर निकलूं और घुसेड दूँ उसके मुंह में..

शायद गन्दी ना हो जाए इसलिए, मैंने मम्मी के ब्लाउस को आगे से पकड़ा और उसके हूक खुलकर उसे उतार दिया, एक और नंगे चुचों का जोड़ा बिना ब्रा के उजागर हो गया .फ्री फायर रिडीम कोड डालना है

आशा , बड़ी ही नज़ाकत से चेहरा घूमाकर, अपने पापा के ऑंखों में देखी। उसे पापा के पेंट में से खड़ा लंड साफ़ दिखाई दे रहा था। देवश : हालत ही कुछ ऐसे थे काकी की फोन करने का मन ना हुआ आप भी तो शीतल की शादियो में व्यस्त थी और मैं खमोखाः आपके इस खुशहाल पल को यूँ

ऊओफ़! क्या रसीले होंठ हैं. जिस दिन से तुम्हें देखा है उसी दिन से तुम्हें पाने के सपने देख रहा हूँ. मैने तो अपनी मा से कह दिया था कि शादी करूँगा तो सिर्फ़ इसी लड़की से.

हालाँकी जगदीश राय, बहुत बार ठान लिया था की आशा को भाव न देकर रास्ते पर लाये, पर हर वक़्त आशा की गांड और उसमें से निकल रही सुन्दर पूँछ के सामने , उसका लंड जबाब दे देता।,షార్ట్ వీడియోస్ निशा(आशा के कान में): ज्यादा बकवास मत कर। मैं अच्छी तरह जानती हु तेरे कैसे फ्रेंड्स है। तू पापा को बेवकूफ बना सकती है। मुझे नही, समझी क्या।

News